यह 14 दिनों का कठोर सैन्य अभ्यास था जिसमें दोनों देशों के सैनिक उनके बीच पेशेवर और सामाजिक बंधन को बढ़ावा देने में सक्षम हो सकते थे

भारत-नेपाल द्वारा आयोजित संयुक्त सैन्य अभ्यास 'सूर्य किरण' भारत में उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में शनिवार को संपन्न हुआ। 20 सितंबर से शुरू होकर यह दोनों देशों के सैन्य अभ्यास का 15वां संस्करण था।

रक्षा मंत्रालय के अनुसार, संयुक्त अभ्यास काउंटर टेररिज्म एंड डिजास्टर रिलीफ ऑपरेशंस पर केंद्रित था। मंत्रालय ने कहा कि अभ्यास ने दोनों सेनाओं के सैनिकों को हमेशा के लिए पेशेवर और सामाजिक बंधन को बढ़ावा देने का अवसर प्रदान किया।

गहन सैन्य प्रशिक्षण के बाद, दोनों सेनाओं ने सत्यापन अभ्यास के दौरान आतंकवादी समूहों पर अपनी युद्ध शक्ति और प्रभुत्व का प्रदर्शन करते हुए संयुक्त अभ्यास का समापन किया।

समापन समारोह में दोनों राष्ट्रों के अद्वितीय पारंपरिक स्पर्श के साथ अपार प्रतिभा का प्रदर्शन किया गया। वरिष्ठ अधिकारियों ने अभ्यास के पेशेवर आचरण के प्रति अपनी संतुष्टि और प्रशंसा व्यक्त की।

अभ्यास के दौरान उत्पन्न सौहार्द, एस्प्रिट-डी-कॉर्प्स और सद्भावना भविष्य में दोनों देशों के सशस्त्र बलों के बीच संबंधों को मजबूत करने में एक लंबा रास्ता तय करेगी।