दोनों देश इस साल अपने राजनयिक संबंधों की स्थापना की स्वर्ण जयंती मनाने के लिए उत्सुक हैं

भारत और बहरीन तेल और गैस, व्यापार और निवेश, स्वास्थ्य, खाद्य सुरक्षा, रक्षा, सुरक्षा, नवीकरणीय ऊर्जा, शिक्षा, संस्कृति और डिजिटल प्रौद्योगिकियों के क्षेत्रों में अपने सहयोग को और विकसित करने पर सहमत हुए हैं। 7 अप्रैल को इस संबंध तीसरे भारत-बहरीन उच्च संयुक्त आयोग में निर्णय लिया गया



दोनों मंत्रियों ने पारस्परिक हित के क्षेत्रीय और बहुपक्षीय मुद्दों पर भी चर्चा की। भारत, बहरीन द्वारा आईएसए फ्रेमवर्क समझौते के संशोधन के इंस्ट्रूमेंटेशन के लिए तत्पर है।

उन्होंने द्विपक्षीय सहयोग के सभी क्षेत्रों की समीक्षा की और पिछले कुछ वर्षों में हुई प्रगति पर प्रसन्नता व्यक्त की। उन्होंने 2014 में बहरीन के राजा और 2019 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बहरीन की ऐतिहासिक यात्राओं को याद किया। दोनों पक्षों ने कोविड-19 महामारी के दौरान अपने समन्वय और सहयोग को जारी रखा।

दोनों पक्ष इस साल अपने राजनयिक संबंधों की स्थापना की स्वर्ण जयंती मनाने के लिए भी उत्सुक हैं।

विदेशमंत्री ने बहरीन को जीसीसी के अध्यक्ष के रूप में पदभार ग्रहण करने के लिए बधाई दी और भारत-जीसीसी साझेदारी को मजबूत करने के लिए बहरीन के साथ काम करने के लिए तत्पर हैं।

इससे पहले बहरीन के विदेशमंत्री ने बुधवार को भारत के उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू से मुलाकात की। बैठक के दौरान, उपराष्ट्रपति ने कोविड-19 महामारी के दौरान भारतीय समुदाय कि उत्कृष्ट देखभाल करने के लिए भारत की ओर से बहरीन के राजा को धन्यवाद दिया। बहरीन के विदेशमंत्री ने बहरीन की प्रगति और विकास में भारतीय समुदाय के योगदान की सराहना की और बहरीन को कोविल्ड के टीकों की आपूर्ति करने के लिए भारत को धन्यवाद दिया।